#poojanvidhi

देवउठनी एकादशी 2019 जाने मंत्र, लोक कहावत, महत्व एवं शुभ मुहूर्त

2019 में देव उठनी एकादशी 8 नवंबर को आ रही है।  देवउठनी एकादशी के दिन भगवान विष्णु विश्राम से जागते है और सृष्टि का सारा कार्य- भार संभालते है। इस दिन यानी की एकादशी के दिन सभी मंगल कार्य शुरू किये जाते है। इस दिन तुलसी विवाह करने की भी परंपरा है।हिन्दू धर्म में ऐसी मान्यता है कि देवउठनी एकादशी के दिन भगवान विष्णु क्षीरसागर में 4 माह के शयन करने के बाद में जागते है। हिन्दू धर्म में भगवान विष्णु के शयनकाल के चार महीने में विवाह आदि जैसे मांगलिक कार्य नहीं किये जाते है। क्योकि कार्तिक मास में आने वाली शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवोत्थान, देवउठनी या प्रबोधनी एकादशी के नाम से कहा जाता है। देवउठनी एकादशी दिवाली के बाद में आती है। देवउठनी एकादशी व्रत देवउठनी एकादशी वाले दिन प्रातः काल उठकर व्रत का संकल्प लेना चाहिए और उसके बाद में भगवान विष्णु का ध्यान करे। जब आप स्नान आदि से निवृत्त हो जाये तो उसके बाद में घर के आँगन में भगवान् विष्णु के चरणों की आकृति बनाए। उसके बाद में एक ओखली में गेरू […]